जहरीली शराब मामले में अलग कानून बनाने की मुख्यमंत्री ने की वकालत

0
12

देहरादून। विधानसभा में बजट सत्र के पहले दिन विपक्ष के हंगामे व वॉकआउट करने की घटना के बाद सूबे के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत इस पूरे मामले पर सफाई देने खुद मीडिया के सामने आए सीएम ने कहा कि यह एक परंपरा है राज्यपाल को गार्ड की सलामी के लिए सदन में ले जाया जाता है, सीएम ने तो यहां तक कह दिया कि घड़ियों में समय अलग अलग हो सकता है, जिस वजह से विपक्ष हंगामा कर रहा है लेकिन इस पर आरोप लगाना सही नही है ।
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का ऐलान राज्य में अवैध रूप से शराब बेचने वालों के खिलाफ ठीक वैसा ही कानून होगा जैसा बलात्कार करने वालों के खिलाफ है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने जहरीली शराब मामले में बड़ी कार्रवाई के साथ साथ राज्य में एक अलग कानून बनाने की भी वकालत कर दी है।
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा है कि जहरीली शराब का खुलासा हो चुका है, एसआईटी और मजिस्ट्रेटी जांच के बाद पह रेंज के अधिकारी के नेतृत्व में एक और विस्तृत जांच के लिए आयोग बनाया जाएगा, ताकि इससे विस्तृत जांच हो सके । सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि यह जो भी घटना हुई है बेहद गंभीर है और उनके आरोपियों को बख्शा नहीं जाएगा। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि मौजूदा सदन में सरकार एक ऐसा विधेयक लाने जा रही है जिस विधेयक के पास होने से राज्य में जहरीली और अवैध रूप से शराब बेचने वालों और बनाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई हो सकेगी।

LEAVE A REPLY