एसओजी ने दबोचे चेन लूटेरे

0
453

पवन सिंघल
डोईवाला। पांच दिन पूर्व रानीपोखरी इलाके से एक बुजर्ग महिला के गले से सोने की चेन लूटने वाले बदमाशों को पकडने का टास्क रानीपोखरी पुलिस व एसओजी को दिया गया एसओजी टीम ने चेन लूटेरों की तलाश में ताबडतोड छापे मारे और आखिरकार रानीपोखरी इलाके में चैकिंग के दौरान लाल रंग की बाजार पल्सर मोटरसाइकिल पर सवार जब दो संदिग्धों को जब रोका गया तो उन्होंने खुलासा किया कि उन्होंने ही महिला के गले से सोने की चेन लूटी थी। लूटेरों ने चेन को बसंत विहार में फाइनेंस कम्पनी में पचास हजार रूपये का लोन लेकर गिरवी रख दी थी। एसओजी ने बदमाश से पूछताछ के बाद फाईनेंस कम्पनी गिरवी रखी चेन बरामद कर ली।
एसएसपी निवेदिता कुकरेती ने बताया कि 21 अप्रैल की शाम मोटर साइकिल पर सवार दो बदमाशों ने रानीपोखरी निवासी श्रीमती विशाली देवी जो कि घर के बाहर खडी थी उसके गले से ढाई तोले की चेन लूट ली थी और फरार हो गये थे। घटना का खुलासा करने के लिए रानीपोखरी पुलिस व एसओजी टीम को सर्विलांस के सहारे बदमाशों को पकडने के आदेश दिये गये थे। उन्होंने बताया कि एसओजी ने सर्विलांस के सहयोग से बदमाशों के बारे में जानकारी हासिल की और बीती रात चैकिंग के दौरान सारिक उर्फ जॉनी तथा वसीम उर्फ वासू को लाल रंग की पल्सर मोटर साइकिल के साथ गिरफ्तार किया सारिक के कब्जे से मणप्पुरम फाइनेंस की पावती रसीद भी बरामद हुई एवं इन बदमाशों को जब बुजुर्ग महिला के सामने लाया गया तो उसने इनकी पहचान कर ली। एसएसपी ने बताया कि बदमाशों ने यह चेन फाइनेंस कम्पनी में गिरवी रख पचास हजार का लोन लिया था जिसे बरामद कर लिया गया। उन्होंने बताया कि पूछताछ में खुलासा हुआ कि बदमाश स्मैक पीने के आदि है और स्मैक की लत लगने पर स्मैक खरीदने के लिए रूपया न होने पर लूट व चोरी की घटनाओं को अंजाम देते थे। सारिक ने बताया कि उसने पूर्व में देहरादून शहर में चेन लूट की घटनाओं को अंजाम दिया था जिसमें वह जेल जा चुका है। पकडने वाली पुलिस टीम में एसओजी प्रभारी पीडी भट्ट, सुशील, अमित, आशीष शर्मा, क्लेमन्टाउन, पटेलनगर प्रभारी शामिल थे।

LEAVE A REPLY