विधायक ठुकराल बने गालीबाज!

0
10

सत्ता के नशे में गालीगलौच देना बन गई आदत?
ऊधमसिंहनगर। रूद्रपुर से भाजपा विधायक का कांग्रेस के पूर्व मंत्री रहे तिलकराज बेहड से छत्तीस का आंकडा हमेशा देखने को मिलता रहा है और जब भी विधायक ठुकराल पर कोई आरोप लगा तो उन्होंने उसका ठीकरा तिलकराज बेहड़ पर फोड़ दिया। विधायक अपनी ही सरकार में महिलाओं व व्यापारियों को अपनी ताकत का एहसास कराने में लगे हुए हैं और वह कब कहां किसके साथ हाथापाई व गालीगलौच करनी शुरू कर दें उसका पता ही नहीं चल पाता। लम्बे समय पूर्व विधायक का गाली देता हुआ वीडियो वॉयरल हुआ था तो उससे भाजपा को काफी फजीहत सहनी पडी थी और हाल ही में महिलाओं के साथ विधायक द्वारा की गई मारपीट का मामला अभी शांत हुआ भी नहीं था कि रूद्रपुर इलाके में अतिक्रमण हटाने गई प्रशासन की टीम का जब कुछ व्यापारी विरोध करने लगे तो एक व्यापारी व भाजपा कार्यकर्ता ने इसका विरोध किया तो एक बार फिर मौके पर मौजूद भाजपा विधायक अपना आपा खो बैठे और वह अपने ही कार्यकर्ता व व्यापारी के साथ गालीगलौच करते हुए आग बबूला हो गये जिससे अब इस बात को लेकर बहस छिड गई है कि अनुशासन वाली पार्टी का एक विधायक क्यों बार-बार अपना आपा खोकर किसी के साथ ही हाथापाई व गालीगलौच करने के लिए आगे आ रहा है?
उल्लेखनीय है कि हमेशा विवादों में घिरे रहने वाले भाजपा के विधायक राजकुमार ठुकराल एक बार फिर विवादों में घिरते नजर आ रहे हैं। महिलाओं से मारपीट करने के मामले में अभी भाजपा संगठन के द्वारा विधायक राजकुमार ठुकराल को क्लीनचिट मिली ही थी कि एक और वीडियो वायरल होने से विधायक की छवि और चरित्र एक बार फिर विवादों के घेरे में आ गया है। भाजपा के रुद्रपुर विधायक राज कुमार ठुकराल की एक ऐसी वीडियो सामने आई है, जिसमें विधायक सार्वजनिक रूप से अभद्र भाषा और गाली गलौज करते हुए नजर आ रहे हैं। मौका उस वक्त का है, जब गत 10 अप्रैल को निगम प्रशासन द्वारा अतिक्रमण हटाया जा रहा था।
आपको बता दें, ऊधमसिंहनगर के रुद्रपुर में हाईकोर्ट के आदेशों पर अतिक्रमण हटाओ अभियान में गल्ला मण्डी की ओर से प्रशासनिक अधिकारियों के द्वारा अतिक्रमण हटाने का अभियान चलाया गया, वहीं पर खोखे वाले छोटे फुटकर व्यापारियों ने इस कार्यवाही का विरोध किया और पक्षपातपूर्ण कार्यवाही का आरोप लगाया। व्यापारियों का आरोप था कि हर बार अतिक्रमण हटाने की शुरुआत उन्हीं की दुकानों की ओर से होती है, बाद में अभियान किसी न किसी बहाने रुक जाता है और बड़े व्यापारियों को बचा लिया जाता है। व्यापारियों के इस विरोध पर विधायक का पारा चढ़ गया और विधायक राजकुमार ठुकराल छोटे व्यापारियों से अभद्रता और गाली गलौज पर आमादा हो गए। विधायक जिस दौरान अपना आपा खो कर छोटे व्यापारियों को हड़काते धमकाते और गाली देते दिख रहे थे, उसी दौरान किसी ने उनकी वीडियो बना ली, जिसमें चंद सेकेंड में ही विधायक अपने साथ-साथ अपनी पार्टी की भी गरिमा को तार-तार करते दिखाई दे रहे हैं। जबकि अभी चंद दिन पहले ही विधायक जी पर महिलाओं के साथ मारपीट का आरोप लग चुका है।
उल्लेखनीय है कि भाजपा विधायक राज कुमार ठुकराल के बारे में यह बात अत्यंत विचारणीय है कि जनता के वोट पाकर विधानसभा तक का सफर पूरा कर लोगों की समस्याओं को विधानसभा में उठाने वाले विधायक आखिर अपने पद की गरिमा और मर्यादा को कैसे भूल जाते हैं, जबकि वे देश की ऐसी पार्टी से हैं जिसके नेताओं से सबसे अधिक संस्कारी होने की अपेक्षा की जाती है। अब देखना यह है कि अभद्रता और मर्यादा भंग करने के हर मामले में विधायक को क्लीन चिट देने वाली पार्टी विधायक ठुकराल के इस मामले पर क्या रुख अपनाती है? ज्वलन्त उदाहरण के रूप में सार्वजनिक रूप से विधायक का गाली-गलौज करते हुए वीडियो सामने आने के बाद पार्टी विधायक को कुछ सबक सिखाएगी या पार्टी एक बार फिर अपने विधायक को क्लीन चिट देकर विधायक का मनोबल बढायेगी?

LEAVE A REPLY