समाजिक सद्भाव की आवश्यकता

0
41

सामाजिक सद्भाव की आवश्यकता का महत्व बताते हुए संजय कुमार ने कहा की आज वर्तमान समय में हिंदू समाज को तोड़ने के लिए संपूर्ण विघटनकारी शक्तियों लगी हुई है समाज को बांटने का कार्य देश को विभाजित करने का षड्यंत्र चल रहा है विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल के कार्यकर्ताओं को हिंदू समाज को किसी भी विपत्ति से बचाने  के लिये प्रयासरत  रहना होगा इसका संकल्प लेते हुए आज अंबेडकर जयंती एवं वैशाखी की संक्रांति के इस महान पर्व पर सिखों के दसवें गुरु गुरु गोविंद सिंह जी के द्वारा खालसा पंथ की स्थापना सामाजिक समरसता का सबसे महत्वपूर्ण उदाहरण है इस अवसर पर बजरंग दल के विभाग संयोजक विकास वर्मा ने अंबेडकर जी के जीवन के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा की संपूर्ण जीवन अंबेडकर जी ने संघर्ष करते हुए लोकतंत्र एवं छुआछूत के भेदभाव को दूर करने के लिए अपना जीवन लगा दिया परंतु तत्कालीन सरकार ने उनके साथ अन्याय करते हुए कानून मंत्रालय से भी विमुख कर दिया वह लोकसभा एवं राज्यसभा में न जाने पाए इसके लिए उनके विरुद्ध प्रत्याशी उतार कर के उनके प्रगति के मार्ग में बाधा डाली इस अवसर पर ऋषिकेश के आध्यात्मिक संत शांति धर्मानंद जी महाराज ने कहा कि आज सूर्य सूर्य मेष राशि में प्रवेश कर रहा है आज से सूर्य पृथ्वी को ऊर्जा मान बनाता चला जाएगा जो प्राणी जीवन के लिए आवश्यक तत्व है आज से संपूर्ण शुभ कार्य प्रारंभ हो जाएंगे।

LEAVE A REPLY