कौन बनेगा धर्मनगरी का पहला मेयर!

0
46

मेयर को लेकर चर्चाओं का बाजार ऋषिकेश मे हुआ गर्म
मेयर की फेहरिस्त मे शहर के तमाम राजनैतिक सूरमाओं के नाम शामिल
राजनैतिक आकाओं की परिक्रमा के साथ शुरू हुई नुक्कड़ बैठके
पोस्टर, बैनर और होल्डिगो से पटी तीर्थ नगरी
अमित सूरी
ऋषिकेश। कौन बनेगा ऋषिकेश का पहला मेयर? इन दिनों चर्चाओं के बाजार मे विषय सिर्फ और सिर्फ यही है। शहर में मौसम का मिजाज भले ही बेहद ठंडा हो लेकर राजनैतिक सरगर्मियां धीरे-धीरे अपने उफान की और बढनें लगी हैं। इसकी तपिश भी आम और खास सभी लोगों मे महसूस की जा रही है।
आपको बता दें कि उत्तराखंड के मुख्य द्वार ऋषिकेश की नगर पालिका को प्रदेश सरकार द्वारा अपग्रेड करके नगर निगम का दर्जा दे दिया गया है। सरकार की घोषणा के बाद अप्रैल माह मे संभावित नगर निगम चुनाव को देखते हुए तमाम राजनैतिक सूरमाओं ने चुनावी तैयारियां जोरशोर से शुरू कर दी हैं। हांलाकि चुनावी अधिसूचना जारी होने मे कुछ और वक्त है और नगर निगम में मेयर की सीट सामान्य रहेगी या फिर महिला आरक्षित होगी इस पर भी सस्पेंस बना हुआ है। बावजूद इसके शहर मे तमाम संभावित राजनैतिक योद्वाओं ने तीर्थनगरी को पोस्टर, बैनर और बड़े बड़े होल्डिगांे से पाट दिया है। राष्ट्रीय दलों की बात करें तो भाजपा और कांग्रेस मे चुनावी दंगल से पूर्व सिम्बल की लड़ाई को लेकर सियासी घमासान तेज होता नजर आ रहा है सामान्य सीट होने की सूरत मे भाजपा मे सिम्बल की रेस मे फिलहाल कांग्रेस का दामन छोड़ भाजपा मे शामिल हुए पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा के खेमे के मानेे जाने वाले भगत राम कोठारी सबसे आगे बताये जा रहे हैं लेकिन मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के बालसखा कृष्ण कुमार सिंघल भी इस रेस मे बने हुए हैं, अन्य दावेदारों मे विधानसभा अध्यक्ष के करीबी माने जाने वाले रवीन्द्र राणा का नाम भी इस फेहरिस्त मे बताया जा रहा है।
जबकि महिला सीट होने पर पूर्व पालिकाध्यक्ष स्नेहलता शर्मा, भाजपा की प्रदेश उपाध्यक्ष कुसुम कंडवाल, राज्य आंदोलनकारी व पूर्व सभासद सरोज डिमरी, भाजपा महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष अनिता ममंगई व भाजपा की जिला उपाध्यक्ष व निर्वतमान सभासद कविता शाह मे से किसी एक की लाटरी लगनी तय मानी जा रही है। कांग्रेस मे मेयर के टिकट की दौड़ मे सामान्य सीट पर फिलहाल जिलाध्यक्ष जयेंद्र रमोला दौड़ मे सबसे आगे माने जा रहे हैं लेकिन कयास यह भी लग रहें हैं कि दो बार विधानसभा चुनाव लड़ चुके कांग्रेस के प्रदेश महासचिव राजपाल खरौला पर भी अंतिम समय मे पार्टी दांव खेल सकती है। अन्य दावेदारों मे निर्वतमान सभासद मनीष शर्मा व सुधीर राय के नामों की सुगबुगाहट भी चहाँ चल रही है। महत्वपूर्ण यह भी है कि सामान्य सीट होने की सूरत मे नगर पालिका अध्यक्ष पद पर जीत की हैट्रिक लगा कर इतिहास रच चुके निर्वतमान पालिकाध्यक्ष दीप शर्मा का अपने लम्बे राजनैतिक अनुभव के आधार पर निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर प्रथम मेयर के रूप मे प्रबल प्रत्याशी बनकर उभरना तय है। उधर बसपा से पूर्व सभासद रवि कुमार जैन और विधानसभा प्रत्याशी रहे लल्लन राजभर के नामों की चर्चा है। पिछले कुछ दिनों में विधानसभा चुनाव मे भाजपा से बगावत कर चुनावी ताल ठोक चुके संदीप गुप्ता का नाम भी तेजी से उभर कर सामने आया है। इन सबके बीच चुनावी बिसात बिछने से पूर्व तमाम संभावित चुनावी योद्वाओं ने नुक्कड़ बैठकें आरम्भ करने के साथ साथ अपने पक्ष मे लामबंदी सहित टिकट के लिए अपने राजनैतिक आकाओं की परिक्रमा शुरू कर दी है।

LEAVE A REPLY