भाकपा माले का खुला आरोप

0
9

प्रकाश पांडे की मौत की जिम्मेदार सरकार
नैनीताल। भाकपा(माले) ने आज कार रोड, बिन्दुखत्ता बाजार में काठगोदाम के व्यापारी प्रकाश पाण्डेय की आत्महत्या के लिए राज्य सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए भाजपा की त्रिवेन्द्र रावत सरकार का पूतला फूंका। इस दौरान हुई सभा को सम्बोधित करते हुए भाकपा(माले) के प्रदेश कमेटी सदस्य कॉमरेड पुरूषोत्तम शर्मा ने कहा कि नोटबन्दी और जीएसटी से परेशान होकर व्यवसायी की आत्महत्या की कोशिश और उसके बाद दुर्भाग्यपूर्ण मौत सरकार की गलत नीतियों का दुष्परिणाम है। 127 करोड़ देशवासियों के अच्छे दिन लाने के वायदे करके जबसे मोदी जी केन्द्र की सत्ता में बैठे हैं तब से मुठठीभर गिने-चुने कॉरपोरेट घरानों व पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाने के लिए कभी नोटबंदी कभी जीएसटी जैसी नीतियां लागू कर रहे हैं। देश के मजदूर, किसान , व्यापारी नोटबंदी और जीएसटी जैसे फैसलों से बर्बाद हो चुके हैं। नोटबंदी के समय 150 से ज्यादा लोग मारे गये, लाखों उद्योग धंधे बंद हो गये, लाखों लोग बेरोजगार हो गये। मोदी सरकार ने अम्बानी, अडानी जैसे अपने चंद चहेते पूंजीपतियों का कर्ज माफ करने के लिए सरकारी खजाने से 2.11 लाख करोड़ रूपये बैंको को बैल आउट पैकेज के रूप में दे दिये। यदि यही पैसा किसान, मजदूर, व्यापारी आम जनता के शिक्षा , रोजगार, छोटे उद्योगों को बढ़ावा देने में खर्च किये जाते तो लाखों लोगों को रोजगार मिलता, खेती, व्यापार आगे बढ़ता। लेकिन डबल इंजन की भाजपा सरकार की गलत नीतियों के कारण पहले तो लाखों किसान आत्महत्या कर चुके है और अब काठगोदाम के व्यापारी प्रकाश पाण्डे को भी आत्महत्या का रास्ता चुनना पड़ा है। प्रदेश की त्रिवेन्द्र रावत सरकार के सामने उक्त व्यापारी ने बार -बार अपनी समस्याएं रखी। मगर राज्य सरकार ने समस्या का समाधान करने के बजाय आत्महत्या के लिए मजबूर किया है। कॉमरेड पुरूषोत्तम शर्मा ने मांग की है कि मृत व्यापारी का पूरा कर्जा माफ हो, सरकार व्यापारी प्रकाश पाण्डेय की आत्महत्या की पूरी जिम्मेदारी लेते हुए मृतक के परिजनों को तत्काल मुआवजा दे। पूतला फूंकने वालों में ललित मटियाली, पुष्कर दुबड़िया, हरीश भण्डारी, राजेन्द्र शाह, कमलापति जोशी, विमला रौथाण, बिशनदत्त जोशी, कमल जोशी, भाष्कर कापड़ी, गोविन्द जीना, दीवान जग्गी, किशन बघरी, कल्लू मियां, खीम सिंह, कुन्दन बिष्ट समेत कई लोग शामिल थे।

LEAVE A REPLY