धर्मनगरी में सड़कों पर मौत की रेस

0
68

छह वाहन टकराये दो की मौके पर मौत
शहर में तांडव कर दौड़ रहे बडे वाहन
अमित सूरी
ऋषिकेश। धर्मनगरी के शहर में ट्रक व बडे वाहन मौत की रेस लगा रहे हैं और इन पर नकेल लगाने के लिए आरटीओ व पुलिस महकमा पूरी तरह से खामोश हो रखा है जिसके चलते शहर में बडे-बडे वाहन ताडंव कर सड़क पर चलने वाले लोगों के सामने एक बडा खतरा बने हुए हैं अगर शहर में मौत की रेस लगाने वाले बडे वाहनों पर नकेल लगाने के लिए आरटीओ व पुलिस प्रशासन आगे आ रखा होता तो आज शहर के अन्दर ट्रक मौत की रेस न लगा पाते और न ही दो व्यक्तियों को अपनी जान गवानी पडती। धर्मनगरी के इतिहास में पहली बार देखने को मिला जब छह वाहन इतनी तेजी से टकराये कि आसपास का इलाका भी हिल गया और पुलिस को ट्रकों के बीच फसी ऑल्टो कार के ड्राईवर को बाहर निकालने के लिए कटर से गाडियों को काटना पड़ा जिसके बाद उसकी लाश को बाहर निकाला जा सका। नवनियुक्त सीओ भी मौके पर पहुंचे और उन्होंने इस दिल दहलाने वाले हादसे को देखा तो उनके भी पैरों तले जमीन खिसक गई। यह हादसा इतना दिल दहलाने वाला था कि चार लोग कैसे जिंदा बच गये इसको लेकर मौके पर मौजूद लोग भी काफी हैरान दिखे और वह यह कहने से भी नहीं चूके कि ‘‘जिसको राखे साईयां मार सके न कोई’’।
सड़क दुघर्टना के इतिहास के मामले मे ऋषिकेश के लिए आज काला दिन रहा। मंगलवार की प्रात साढे नो बजे पुराने बस अड्डे के समीप एक साथ दो ट्रकों सहित अल्टो कार, टाटा सूमों, स्कूटी और बाईक की जबरदस्त भिंडत मे दो लोगों की घटना स्थल पर मोत हो गई जबकि एक महिला समेत पांच लोग गंभीर रूप से घायल हो गये। घायलों को राजकीय चिकित्सालय मे भर्ती कराया गया है जिसमे दो लोगों की हालत को गम्भीर देखते हुए उन्हे हायर सेंटर के लिए रेफर कर दिया गया है। इस दर्दनाक हादसे के बाद तीर्थ नगरी पूरी तरह से शौक मे डूब गई है। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने इस भीष्ण सड़क हादसे पर गहरा शौक जताते हुए मृतक परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। घटना क्रम के मुताबिक आज सुबह करीब पौने दस बजे पुराने रोड़वेज बस स्टैण्ड के समीप हीरालाल मार्ग के तिराहे पर रेलवे स्टेशन रोड़ की तरफ से आ रहे ट्रक के ब्रेक फेल हो गये जिसके चपेट मे अल्टो कार, टाटा सूमो,स्कूटी और बाईक सहित हीरालाल मार्ग से टर्न कर रहा सीमेंट से भरा ट्रक उसकी चपेट मे आ गया। शहर के बीचोबीच भीष्ण सड़क हादसा घटित होते ही चारों तरफ चीख पुकार के साथ अफरातफरी फेल गई। मौके से गुजर रहे विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद अग्रवाल ने तुरंत घायलों को अस्पताल पहुचाने मे मदद की। चंद मिनटो मे ही तमाम प्रशासनिक अमला जिसमे उपजिलाधिकारी हरि गिरी सहित पुलिस क्षेत्राधिकारी वीरेन्द्र सिंह रावत,कोतवाली प्रभारी प्रवीण सिंह कोश्यारी मयफोर्स मोके पर पहुंच गये और राहत कार्य शुरू करवाया। इस दौरान सैकड़ों लोगों की भीड़ मौके पर एकत्र हो गई थी।जिन्हें काबू करने के लिए पुलिस को खासी मशक्कत करनी पड़ी। दुघर्टना मे कुंदन सिंह हाल निवासी शांति नगर व राम स्वरुप निवासी इन्दिरा नगर की घटना स्थल पर मौत हो गई जबकि राधे श्याम निवासी मुज्जफरनगर ,सतीश प्रजापति निवासी भरत विहार ,जुनवारी देवी निवासी नीरगड्डू,शिशु पाल निवासी निवासी नीरगड्डू तथा हरी निवासी मायाकुंड घायल हुए हैं।बताते चले कि ऋषिकेश के इतिहास मे इतने वाहनों का एक साथ टकराना पहली बड़ी घटना है, जिसमे स्थानीय प्रशासन की यातायात व्यवस्था पर भी बड़ा सवालिया निशान लगा दिया है।

LEAVE A REPLY