पर्वतीय क्षेत्रों में बड़ रहे शराब के प्रचलन पर दिखाई ंिचता

0
7

भारतीय सेना व सशस्त्र सेना एक बडे परिवार की तरह हमेशा देश की सेवा करते है
अल्मोड़ा। देश सेवा के लिये अनुशासित रहकर काम करना ही सेना की प्राथमिकता है यह बात मेजर जनरल सेना मैडल कविन्द्र सिंह ने आज आर्मी मैदान में आयोजित एक विशाल भूतपूर्व सैनिकों की रैली को सम्बोधित करते हुये कही। उन्होंने कहा कि भारतीय सेना व सशस्त्र सेना एक बडे परिवार की तरह हमेशा देश की सेवा करते है और जीवन भर वह सेना के सदस्य बने रहते है। उन्होंने कहा कि हमें अपने कर्तव्यों का निर्वाहन बडे जिम्मेदारी के साथ करना होगा। मेजर जनरल ने कहा कि वर्ष 2015 में यहां पर रैली का आयोजन किया गया था उसके बाद 13 सिक्ख रेजीमेंट द्वारा इस बार इसका आयोजन किया जा रहा है। अपने सम्बोधन में उन्होंने भूतपूर्व सैनिकों को सम्बोधित करते हुये कहा कि आप लोगों को स्वास्थ्य के प्रति सजग रहना होगा साथ ही अपने आदतों में नियंत्रण रखना होगा।
मेजर जनरल ने कहा कि पर्वतीय क्षेत्रों में बड़ रहे शराब के प्रचलन पर चिन्ता जताते हुये कहा कि इसका प्रभाव हमारी युवा पीढ़ी पर पड़ रहा है इसके लिये हमें सजग रहना होगा इसके साथ ही उन्होंने भूतपूर्व सैनिकों से कहा कि वे अपने पेंशन सम्बन्धी पत्रजातों का रख-रखाव सही ढ़ग से करे और सेवा निवृृत्त के समय जो पार्ट-टू आर्डर उन्हें मिलता है उसमें अपने परिवार के सदस्यों का अंकन अनिवार्य रूप से करा लें इसके न होने पर कठिनाई होती है। उन्होंने कहा कि संास्कृतिक नगरी अल्मोड़ा का जहां एक ओर स्वतंत्रता आन्दोलन में विशेष योगदान रहा है वही यहां के लोगों का सेना में विशेष योगदान रहा है। उपस्थित भूतपूर्व सैनिकों को सम्बोधित करते हुये उन्होंने कहा कि आज यहां पर विशाल शिविर लगाया गया है इसमें पेंशन सम्बन्धी मामलों के निस्तारण के साथ ही अन्य जो परेशानियॉ भूतपूर्व सैनिकों व उनकी वीरागनाओं के है उसे दूर किया जायेगा। इस अवसर पर मेजर जनरल ने कहा कि हमारी सेना को जो प्रशिक्षण दिया जाता है उसका लाभ सेना के प्रशिक्षणार्थी उठाकर देश सेवा में अपना योगदान देते है। उन्होंने पलायन पर भी चिन्ता जतायी और विवेकानन्द कृषि अनुसंधान संस्थान व पं0 गोविन्द बल्लभ पंत पर्यावरण संस्थान द्वारा पिरूल से सद्प्रयोग हेतु किये जा रहे कार्यों की प्रशंसा की। उन्होंने वहां पर मेडिकल कैम्प, सहायता कैम्प, एस0एस0बी0, पुलिस, उद्यान, बैंक, कृषि सहित अन्य विभागों द्वारा दिये जा रहे सहयोग के प्रति भी आभार व्यक्त किया। मेजर जनरल ने जिलाधिकारी इवा आशीष श्रीवास्तव, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पी0 रेणुका देवी एवं उनके सहयोगियों द्वारा दिये गये सहयोग के प्रति भी आभार व्यक्त किया। मेजर जनरल ने आर्मी मैदान में वृक्षारोपण भी किया और इस अवसर पर जिलाधिकारी ने भी पौधारोपण किया। उन्होंने भूतपूर्व सैनिकों व उनकी वीरांगनाओं के साथ बडे आत्मीता से बात कि और उनकी कुशलक्षेम पूछी।
इस शिविर में उन्होंने सेना के 04 भूतपूर्व सैनिक को जो सेवा के दौरान अपने अंगो को खो चुके थे उन्हें स्कूटर तथा 11 भूतपूर्व सैनिक व सैन्य अधिकारियों एवं मृतक सैनिकों की वीरागनाओं को 05-05 हजार रूपये के चौक वितरित किये साथ ही 05 हजार रूपये का चौक आर्मी पब्लिक स्कूल के बच्चों को भी दिया। आज जिन लोगों को स्कूटर दिया उनमें हवलदार नारायण सिंह 03 कुमाऊं, मेहरबान सिंह 20 कुमाऊ, लेस नायक खड़क सिंह मेहता एवं दीवान सिंह सम्मिलित है इसी तरह कर्नल जयंत थापा और आडनरी कैप्टन केसर सिंह, हवलदार अमर सिंह, दरबान सिंह, वीरांगना शान्ति देवी, जमुना मैनाली, मोतीमा देवी, पुष्पा देवी, रमा भण्डारी, जमन सिंह, हीरा सिंह, किशन सिंह प्रमुख है। इससे पूर्व सेना के जवानों ने भागड़ा नृत्य सहित अन्य रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किये। इस कार्यक्रम में जिलाधिकारी इवा आशीष, ब्रिगेडियर किशोर जोशी, कर्नल जे0सी0 लोहनी, सैनिक कल्याण अधिकारी आ0पी0 जोशी, सी0ओ0 हर्ष मिश्रा, रानीखेत कुमाऊ रेंजीमेट के उच्चाधिकारी, एस0एस0बी0 के उप कमाडेंड गिरीश चन्द्र पाण्डे, मेजर एस0 राठी, मेजर अखलेश राठौर, भूतपूर्व सैनिक अध्यक्ष पी0जी0 गोस्वामी सहित अन्य सेना के अधिकारी व जिला प्रशासन के अधिकारी उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन मेजर अरूण बलोरिया ने किया।

LEAVE A REPLY