सरकार एनएच 74 के भ्रष्टाचार को बेपर्दा करने में नाकामः इंद्रिरा

0
8

सुप्रीम कोर्ट की शरण पर दुबारा पहुंचा एनएच-74 घोटाले का मुख्य आरोपी डीपी सिंह
24 तारीख को होगा डीपी के भाग्य का फैसला
गजबः एक छोटे अफसर को खोजने में उत्तराखण्ड़ की खाकी नाकाम, आवाम की सुरक्षा की बड़ी-बड़ी बातें
जनता पूछ रही सवाल, डीजीपी साहब तो क्या ऐसे चलेगा अब राज्य?
ऊधमसिंह नगर। कितनी हैरानी वाली बात है कि उत्तराखण्ड़ में एनएच-74 के लाखों कराड़ों रूपयों का घोटाला होता है, जिसकी चीख पुकार से प्रदेश की राजनीति में भुचाल आया हुआ है और आरोप-प्रत्यारोपों का दौर चल रहा है, विपक्ष भाजपा पर एक के बाद एक तीर चला उसको घायल करने में लगा हुआ है लेकिन उसके बाद भी एनएच-74 के घोटाले के मुख्य आरोपी को खोज निकालने में प्रदेश की खाकी नाकाम साबित हो रही है जोकि अपने आप में कई सवालों को जन्म दे रहा है। कहने को तो पुलिस के अफसर आवाम की सुरक्षा की बाते तो इतनी बड़ी-बड़ी करते है जिसको सुन एक पल तो ऐसा लगता है जैसे मानो प्रदेश में कही भी कोई वारदात नहीं होगी और आवाम को बेखौफ माहौल मिल जायेगा, खैर ये कब होगा ये तो कहना अभी मुश्किल है लेकिन जिस तरह से कई करोड़ो रू का घोटाला करने के मुख्य आरोपी डीपी सिंह को खोजने में प्रदेश की खाकी नाकाम साबित हो रही है उसको देख, इस बात को लेकर बहस शुरू हो गई है कि साहब जब एक छोटे से अफसर को खाकी नहीं खोज पा रही है तो साहब आवाम पर जो अपराधी अपने जुल्मो का चाबुक चला रहे है उस पर कैसे रोक लग पाऐगी? यहां ये भी सवाल खड़ा हो रहा है कि आखिर इतने दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस के हाथ क्यों है खाली? वो अलग बात है कि पुलिस ने कुछ दिनों पूर्व आठ लोगों को पकड़ा है लेकिन साहब आखिर मुख्य आरोपी तक पुलिस कब तक पहंुच पायेगी मुद्दा तो ये बना हुआ है? जहां कुछ दिनों पूर्व प्रदेश के हाईकोर्ट ने डीपी सिंह को झटका दिया तो डीपी सिंह ने सुप्रीम कोर्ट के दरवाजे पर दस्तक दी लेकिन वहां से कोई राहत नहीं मिली, मामले की जांच कर रही एसआईटी ने कहा कि वो जगह-जगह छापेमारी की कार्यवाही को अमल में ला रही है और इसी के तहत एसआईटी देहरादून पहुंची लेकिन उसके हाथ डीपी सिंह नहीं लगा, वहीं एक बार फिर डीपी सिंह ने सुप्रीम कोर्ट में अपनी याचिका को दखिल किया है और जिसकी सुनवाई अगामी 24 तारीख को, जस्टिस आदर्श कुमार और जस्टिस आर. भानुमाठी के कोर्ट में होगी। बताया जा रहा है कि 24 तारिख पर सबकी नजर बनी हुई है कि आखिर कोर्ट क्या एक्शन लेती है। वहीं जिस तरह से पूर्व मंत्री तिलक राज बेहड़ ने एनएच-74 पर मोर्चा खोल रखा है उससे भी भाजपा सवालों के भवर में फंसती दिखाई दे रही है और जिस तलख अंदाज में बेहद ने हुकंार भरी है उसको भी नजर अंदाज नहीं किया जा सकता है।

उत्तराखण्ड़ की मशीनरी नाकामः इंद्रिरा
कांग्रेस की दिग्गज नेता और उत्तराखण्ड़ की नेता विपक्ष इंदिरा हृदयेश ने भी एनएच 74 के मुख्य आरोपी डीपी सिंह के अभी तक नहीं पकड़े जाने पर सरकार पर जमकर हमला बोला और कहा कि उत्तराखण्ड़ की मशीनरी पूरी तरह से नाकाम साबित हुई है और एक छोटे से अफसर को जो नहीं खोज पा रही सरकार वो भ्रष्टाचार पर क्या लगाम लगाएगी, उन्होंने साफ कहा कि उत्तराखण्ड़ की सरकार अपराधियों को पकड़ने में विफल साबित हुई है। उन्होंने कहा कि सरकार की मशीनरी पूरी तरह से नाकाम रही है और जिस घोटाले की जांच सीबीआई से होनी चाहिये थी वो ये नहीं करा सके है।

LEAVE A REPLY