लोकसभा चुनाव नहीं लडेंगे हरीश

0
11

केदारनाथ में हवाई सेवा शुरू न हुई तो 24 घंटे का करुंगा उपवास
अल्मोड़ा। उत्तराखण्ड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने भाजपा सरकार को कटघरे में खडा करते हुए कहा कि जब उन्होंने सत्ता छोडी तो खजाने में तीन माह तक का पैसा मौजूद था और इसी पैसे से भाजपा सरकार ने कर्मचारियों को वेतन दिया। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार सदन में प्रस्ताव लाये कि राज्य बनने के बाद से आज तक प्रदेश में हुये भ्रष्टाचार व घोटालों की जांच के लिए उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायधीश से मांग करें कि पहली विधानसभा से त्रिवेन्द्र सरकार की विधानसभा तक में जितने भी भ्रष्टाचार व घोटाले हुए हैं उन सबकी जांच के लिए परमानेंट बैंच बना दिये जायें। हरीश रावत ने ऐलान किया कि वह लोकसभा चुनाव नहीं लडेंगे और युवाओं को चुनाव लडाने के लिए आगे किया जायेगा।
हरीश रावत ने आज पत्रकारों से रूबरू होते हुए अपनी बात रखी। रावत ने कहा कि वो आगे चुनाव न लड़ कर नए लोगों को मौका देंगे। रावत 2019 में कांग्रेस को उत्तराखंड में हर सीट में जिताने का भी दावा करते नजर आए। रावत का कहना है कि जी इस टी को हम ही लाए थे लेकिन बीजेपी ने इसे तोड़ मरोड़ के पेश किया जिस वजह से ये खराब रूप में जनता के सामने आया। इतने सालों में सबसे काम कर्ज़ शायद हमारी सरकार का रहा है। जो तनख्वाह मार्च, अप्रैल और जून में मौजूद सरकार द्वारा दी गयी हैं वो हमारे ही कोष से ही दी हैं तो कौन और क्यों ये कहा जाता है कि हरीश रावत ने खजाना लूट है। वित्त मंत्री ने कहा है 2016-17 मे देश मे सबसे ज्यादा वृद्धि वाला दूसरा राज्य उत्तराखंड रहा है। जब सरकार की वित्त मंत्री का कहना है कि 2016-17 में उत्तराखंड दूसरे नंबर में रहा है तो फिर मैंने कहा प्रदेश को लूटने का काम किया है। राज्य सरकार की जिम्मेदारी होती है कि विकास को बढ़ाये और प्रदेश को आगे लाए। 3 साल में समाज कल्याण में सबसे ज्यादा काम हुआ है। आज उनमें 27 प्रतीशत की कटौती हुई है। इस सरकार ने निम्न वर्ग के पक्ष में सारी कटौती की है और रोजगार को रोकने का काम किया है। हमारी 11 योजनाओ को जो बच्चों और महिलाओं को फायदा देने का काम कर रही थी वो सब इस सरकार ने बंद कर दिये है।
रावत ने कहा कि हमने 9 जिलों में हैलिकॉप्टर्स लगाए जिसमे हमने कहा था कि केदारनाथ से लाभ लेकर बाकी जिलों में फायदा जनता को दें पर इस सरकार ने आते ही इए बंद कर दिया है। नैनी सैनी और गोच में अगर सरकार ने 1 साल के अंदर अगर हेलीकाप्टर सेवा शुरू नहीं की तो मैं उपवास करूँगा। लोकसभा में हम नए लोगों को आगे लाने का प्रयास करेंगे। रावत ने गुटबाजी के मामले में कहा कि जिस तरह से बैल लड़ते रहते है पर बैल हाँकने वाला उन्हें काबू में कर लेता है उसी तरह से चुनाव में हम भी कर लेंगे। रावत का कहना है कि यदि सरकार खजाना लूटने की बात करती है तो सरकार माननीय न्यायालय की शरण ले और आज तक की सभी सरकारों की जांच करवाये तो साफ हो जाएगा कि किस सरकार में कितना भ्रष्टाचार हुआ है। सरकार हर क्षेत्र में फेल होती जा रही है और विकास की बातें न करके आरोप प्रत्यारोप में समय गवा रही है।

LEAVE A REPLY