पद्मावती फिल्म को लेकर खुला अल्टीमेटम

0
5

प्रशासन को चेताया फिल्म चली तो होगा आन्दोलन
रूड़की। इलाके में फिल्म पद्मावती के विरोध में राजपूत समाज के लोगों गुरुवार को रुड़की टॉकीज चौक स्थित महाराणा प्रताप चौक से रुड़की ज्वाइंट मजिस्ट्रेट कार्यालय तक राजपूत समाज के लोगों ने फिल्म निर्देशक खिलाफ जोरदार प्रदर्शन कर एक रैली निकाली चौराहे पर निर्देशक संजय लीला भंसाली का पुतला जलाया। नारेबाजी करते हुए फिल्म वितरकों और सिनेमाघर संचालकों को चेतावनी दी कि फिल्म की प्रदर्शित करने से पहले समाज से भी अनापत्ति प्रमाण पत्र (एनओसी) ले।
अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा क उत्तराखंड प्रदेश के अध्यक्ष उदय सिंह पुंडीर ने कहा कि राजपूत समाज में फिल्म पद्मावती को लेकर आक्रोश है। प्रदेश के फिल्म वितरकों और सिनेमाघर संचालकों को चेतावनी दी गई है कि जब तक राजपूत समाज को किसी भी दृश्य पर आपत्ति न हो, तब तक फिल्म प्रदर्शित न की जाए। क्षत्रिय समाज के युवा प्रदेश अध्यक्ष अरविंद राजपूत ने बताया कि फिल्म चित्तौड़गढ़ की महारानी पद्मावती पर आधारित है।
इसमें तथ्यों को तोड़मरोड़ कर पेश करने की कोशिश की गई है। ये कोशिश न सिर्फ हिंदू समाज बल्कि राजपुताना स्वाभिमान के मान-सम्मान पर चोट है और हिन्दू संस्कृति को विकृत करने का कृत्य है। इस मौके अक्षय प्रताप सिंह, आकाश पुंडीर, प्रदीप चौहान ,नितिन चौहान ,यश प्रताप सिंह,आदित्य पुंडीर, दीपक चौहान, अतुल राणा, योगेंद्र, पुंडीर,राज कुमार पुंडीर, अभय पुंडीर ,गुलाब सिंह ,आकाश पुंडीर, शुभम राणा,मोहित राणा, बीपी सिंह, दयाराम भाटी, तरुण चौहान, कवर सिंह पुंडीर, शिव प्रताप सिंह, रणदीप सिंह चौहान, प्रदीप चौहान, विनोद पुंडीर विनय, चौहान,मनोज राणा,आदि क्षत्रिय समाज के लोगों ने पद्मावती के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया साथ ही उन्होंने रुड़की की ज्वाइंट मजिस्ट्रेट नीतिका खंडेलवाल को प्रदेश के मुख्यमंत्री साथ ही देश के राष्ट्रपति के नाम एक ज्ञापन सौंपा उन्होंने कहा कि यदि इस फिल्म को रिलीज किया गया तो समाज उसके खिलाफ कड़ा आंदोलन करेगा।

LEAVE A REPLY