बारिश से महाप्रलय

0
150

कोटद्वार शहर में पानी ही पानी
रिफ्यूजी कालोनी में डेढ़ सौ परिवार का सबकुछ तबाह
छह इंसानों की मौत से शहर में मातम
कोटद्वार। पहाडों में हो रही लगातार तेज बारिश ने उत्तराखण्ड के मैदान से लेकर पहाड़ तक में तांडव मचा दिया। कोटद्वार में तो बारिश का ऐसा महातांडव हुआ कि शहर भर में पानी ही पानी नजर आने लगा और छह इंसानों को इस पानी के काल में हमेशा के लिए मौत की नींद सो जाना पड़ा। रिफ्यूजी कालोनी में डेढ़ सौ परिवारों के घर में पानी ही पानी नजर आया जिससे उनका सारा सामान पानी के इस तांडव में समाप्त हो गया और वहां सैकडों परिवारों में जिस तरह से कोहराम मचा वह सरकार की नाकामी भी साफ दिखा गया। पानी के इस महातांडव से जिस तरह कोटद्वार का शहर डूबा हुआ है उसको लेकर आम आदमी सरकार से खासा नाराज दिखा कि आखिरकार सरकार का सिस्टम कहां है? अगर सरकार का सिस्टम शहर में देखने को मिलता तो वहां सैकडों परिवारों का सबकुछ खत्म न हो पाता? चंद समय में बारिश के महातांडव से अब तक छह इसंानों की मौत ने सरकार के तमाम एर्लट की पोल खोलकर रख दी है। बहस छिड गई है कि अगर पहाड़ में बारिश से ऐसा ताडंव हो रहा है तो मैदानी जिलों में बारिश का कहर क्या रंग दिखायेगा इसका अंदाजा अपने आप लगाया जा सकता है। कोटद्वार शहर में पानी से आई महाप्रलय का दृश्य देखकर जिला प्रशासन के भी हाथ-पांव फूल गये। डीएम व एसएसपी खुद सड़कों पर उतरकर महाप्रलय का नजारा देखकर बचाव के लिए आगे खडे हुए नजर आये। मौत का आंकडा बढ़ भी सकता है और शहर में जिस तरह से चारो तरफ तबाही का नजारा देखने को मिला वह सरकार के सभी उन दावों की पोल खोल गया जिसमें उसने आपदा प्रबंधन टीमों को एर्लट मोड पर रखने के दावे किये थे।
उल्लेखनीय है कि पिछले कई घंटों से लगातार हो रही बारिश ने उत्तराखण्ड में मैदान से लेकर पहाड़ तक तबाही मचा दी है। कोटद्वार में कई जगह जान माल का नुकसान हुआ है। सुबह दो बजे से पहाड़ी मार्गो पर जाने वाले छोटे बड़े वाहन पहाड़ की ओर जाने की हिम्मत नही कर रहे। काशीरामपुर तल्ला, मल्ला, कौड़िया, आमपडाव, गाडीघाट में बाढ़ जैसे हालात हो गए है। मानपुर रोड पर आर्मी कैंटीन में भारी नुकसान, रोडवेज बस अड्डे पर भी बुरा प्रभाव, कौड़िया स्तिथ रेलवे पुल के छतिग्रस्त होने की भी सूचना, अन्य कई सरकारी भवन भी छतिग्रस्त। कई जगह सड़के टूटी, विद्युत आपूर्ति और बीएसएनएल की सेवाएं ठप, व्यापारियों को भी भारी नुकसान।
वही भारी बारिश के कारण रिफ्यूजी कॉलोनी निवासी लक्ष्य अरोडा पुत्र चंद्र प्रकाश अरोड़ा 25 वर्ष की उसकी दुकान में पानी भरने से मृत्यु हो गई, श्रीमती शांति देवी पत्नी राम सिंह निवासी मानपुर कोटद्वार उम्र 60 वर्ष की मकान की दीवार गिरने के कारण उसमें दबने से मृत्यु हो गई तथा अजय कुमार पुत्र बालक राम निवासी मानपुर ,कोटद्वार उम्र 39 वर्ष की घर में पानी घुसने से घबराहट होने के कारण मृत्यु। श्रीमती ज्योति अरोड़ा पत्नी बबली अरोड़ा निवासी रिफ्यूजी कॉलोनी कोटद्वार उम्र करीब 35 वर्ष की मृत्यु घर में पानी के बहाव में बहने से हुयी जिसे प्रसाशन की टीम की मदद से ढूढा गया। कोटद्वार-दुगड्डा राजमार्ग के मध्य दो स्थानों पर राष्ट्रीय राजमार्ग बाधित। रिफ्यूजी कॉलोनी में इनवर्टर में शार्ट सर्किट होने से पास रखे गैस सिलेंडर में आग लगने से घर में आग फैल गयी, जिसमे हरेंद्र भाटिया पुत्र ओमप्रकाश भाटिया,उम्र 48 वर्ष एवं उनकी पत्नी श्रीमती रेणु भाटिया उम्र 42 वर्ष एवं पुत्र राहुल भाटिया उम्र 19 वर्ष के आग में झुलसने के कारण उन्हें गंभीर हालत में संयुक्त चिकित्सालय कोटद्वार में भर्ती कराया गया है । इसके साथ ही भावर छेत्र में भी भारी नुकसान हुआ। फिलहाल प्रसाशन राहत कार्य मे जुटा है।

LEAVE A REPLY