बावरिया गैंग निकला चेन लूटेरा

0
154

देहरादून। सहसपुर व विकासनगर पुलिस को खुली चुनौती देकर चेन लूट की वारदातों से पुलिस के आला अफसर काफी चिंतित नजर आ रहे थे और यही कारण है कि सीओ ने विकासनगर व सहसपुर इलाके में लूटेरों की खोज का ऑपरेशन चलवा रखा था इसी ऑपरेशन में दो मोटरसाइकिल पर सवार तीन युवकों को जब घेरा गया तो वह चेन लूटेरे निकले। पुलिस ने चेन लूटेरों के कब्जे से दो चेनें बरामद की हैं। हैरानी वाली बात यह है कि राजधानी में पहली बार चेन लूट की घटनाओं में बावरिया गैंग सलाखों के पीछे पहुंचा है।
मिली जानकारी के अनुसार विकासनगर व सहसपुर थाना क्षेत्रों में हो रही चेन लूट की घटनाओं में बदमाशों की गिरफ्तारी न होने पर पुलिस कप्तान काफी नाराज थी और उन्होंने सीओ विकासनगर पंकज गैरोला को बदमाशों की गिरफ्तारी का आदेश दिया हुआ था। पकंज गैरोला ने विकासनगर व सहसपुर थाना प्रभारी पंकज देवरानी को अपने इलाकों में बदमाशों की खोज में लगा रखा था। पुलिस ने चैकिंग के दौरान जब दो मोटरसाइकिल पर सवार तीन युवकों को रूकने का इशारा किया तो उन्होंने गाडी तेज भगा ली जिस पर पुलिस ने उनका पीछा किया तो पुलिस ने उन्हें घेरकर पकड लिया। पुलिस ने जब उनसे गाडी के कागजात मांगे तो वह कागजात नहीं दिखा पाये जिस पर पुलिस को कुछ शक हुआ और उनसे जब पूछताछ हुई तो उन्होंने अपने नाम विजय कुमार, गणेश व संजय निवासी झिंझाना मुजफ्फरनगर बताये। पुलिस की पूछताछ में उन्होंने विकासनगर व सहसपुर इलाके में तीन चेन लूट की घटनाओं में अपना शामिल होना बताया तथा कहा कि उनका एक और साथी भी लूट में शामिल था।
पुलिस ने विजय कुमार व गणेश कुमार के कब्जे से दो चेन बरामद की जबकि संजय के पास से 45 सौ रूपये बरामद हुए। पंकज गैरोला ने बताया कि हरीपुर में हुई चेन लूट की घटना में पकडे गये बदमाश सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गये थे और सीसीटीवी कैमरे में मिली फुटेज से उनके चेहरे मिलाये गये तो लूटेरे वही निकले। बदमाशों ने बताया कि वह सहसपुर में किराये का कमरा लेकर हाल ही में रहने आये थे। पुलिस अब इनके चौथे साथी की तलाश कर रही है।

LEAVE A REPLY