गाम्रीण क्षेत्र मे मरू भूमि को बना डाला हरा भरा उपवन

0
167

ऋषिकेश। राजकीय प्राविधिक संस्थान गढ़ी श्यामपुर के नाम से ग्राम सभा खदरी खड़क माफ में बने संस्थान में जब केदार नाथ आपदा की बाढ़ का पानी घुसा तो इसने न केवल संस्थान की चहार दीवारी को ध्वस्त कर दिया बल्कि साथ आये मलबे और रेत ने पुरे परिसर को मरू भूमि में तब्दील कर दिया।प्रशासनिक भवन सहित डिस्पेंसरी और शिक्षण कक्ष रेत के ढेरों से पट गए।धीरे धीरे विद्यालय के प्रधानाचार्य सुनील कुमार झा के प्रयासों से अध्यन कक्ष साफ कराये गए,किन्तु परिसर मरू भूमि में तब्दील हो गया।
वर्ष 2015 में भाजपा नेता बलबीर चौहान के नेतृत्व में पूर्व कबीना मन्त्री (वर्तमान में मुख्यमंत्री) त्रिवेन्द्र सिंह रावत सहित कार्यकर्ताओं की उपस्थिति में सैकड़ों पेड़ पौधे लगाये गए।किंतु रेतीली भूमि और बाढ़ के कारण चहार दिवारी ढह जाने के कारण बड़ी मात्रा में पौधे सूखने लगे।इस ओर जब स्थानीय निवासी सामाजिक कार्यकर्ता और पर्यावरण प्रेमी विनोद जुगलान की नजर पड़ी तो उन्होंने पौधों को बचाने का संकल्प ले लिया।धीरे-धीरे श्री जुगलान पौधों की देखभाल करते और प्रतिदिन सुबह पानी देने का नियम बना लिया।पिता को पौधों की सेवा करते देख बच्चों ने भी रविवार को पौधों को पानी देने का कार्य प्रारम्भ किया तो नतीजे भी सामने आने लगे।सुबह सुबह सेना भर्ती की तयारी में जुटे स्थानीय युवकों ने भी मदद की ठानी अब पौधों को प्रकृति संरक्षक मिलने लगे थे।प्राचार्य सुनील कुमार ने पर्यावरण प्रेमी विनोद जुगलान को उनके द्वारा किये गए सफल प्रयासों की प्रशंसा करते हुए सम्मानित किया।आज राजकीय पॉलिटेक्निक गढ़ी श्यामपुर की मरू भूमि जुगलान के प्रयासों फिर से हरी भरी होगई है।वे बताते हैं कि अवसर चाहे दुःख का हो या सुख का वे व्यर्थ नही जाने देते हैं उन्होंने अपनी माता जी के द्वारा भी यहाँ अनेकों पौधे रोपित करवाये थे अब माता जी के स्वर्गवास के बाद से माता की सेवा के रूप में उन पौधों की नियमित सेवा देखभाल जारी है। रक्षा बन्धन पर विद्यार्थियो को पौधों की रक्षा का संकल्प कराया गया।छोटे बड़े सभी अवसरों पर पौधों की देखभाल सहित वृक्षा रोपण का कार्य लगातार जारी है।
पर्यावरण संरक्षक और सचेतक के रूप से पहचान पाने वाले श्री जुगलान अब परिचय के मोहताज नही हैं।उन्होंने पर्यावरण संरक्षण सहित सामजिक आंदोलनों को गति प्रदान की है। उपजाऊ भूमि पर स्टोन क्रेशर के विरोध में मलेथा आन्दोलन में भी उनकी सक्रिय भूमिका रही,ततपश्चात् उन्होंने गोपेश्वर से देहरादून तक की 300 किमी की पैदल यात्रा की। उनकी प्रकृति के प्रति अगाध प्रेम और प्रयासों की मुख्य मन्त्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत सराहना कर चुके हैं।जबकि पूर्व मुख्यमंत्री और वर्तमान में हरिद्वार साँसद डॉ रमेश पोखरियाल श्निशंकश् सहित स्थानीय विधायक प्रेम चन्द अग्रवाल द्वारा उनको वर्ष 2016 में श्यामपुर में सम्मानित किया जा चुका हैं।
आज विश्व पर्यावरण दिवस पर पर्यावरण सचेतक विनोद जुगलान के आवाह्न पर आयोजिय वृक्षारोपण के कार्यक्रम में बड़ी संख्या में जन प्रतिनिधियों सहित सामाजिक कार्यकर्ताओं ने भाग लिया।जिनमे सामजिक कार्यकर्ता महावीर उपाध्याय, राजेंद्र बिजल्वाण,राम रतन रतूड़ी,आचार्य आशीष नौटियाल,क्षेत्र पंचायत सदस्य पवन पाण्डेय,ग्राम प्रधान सरोप सिंह पुण्डीर, दिनेश कुलियाल, विपिन जोशी,मनीष बडोनी,सुरेश कुलियाल,अमृतम् जुगलान, अरुण कुमार,आदि प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY