अंतर्राष्ट्रीय पृथ्वी दिवस पर निकाली जनजागरूकता रैली

0
147

देहरादून। हैस्को व सभी स्कूलों के बच्चों द्वारा अंतर्राष्ट्रीय पृथ्वी दिवस के उपलक्ष्य में गांध्ी पार्क से पर्यावरण जनजागरूकता रैली का आयोजन किया गया। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचन्द अग्रवाल मुख्य अतिथि थे और उन्होंने रैली को झंडी दिखाकर रवाना किया।
इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचन्द अग्रवाल ने कहा कि पृथ्वी दिवस पर शुरू की गयी यह पहल अनुकरणीय है। पर्यावरण के प्रति किये जा रहे प्रयासों के बदौलत ही हमारी पृथ्वी बची हुई है। उन्हांेने जीइपी को उत्तराखण्ड में सबसे पहले लागू करने की प्रतिबद्धता जाहिर की। उन्होंने यह भी कहा कि बच्चों के द्वारा जो पत्रा दिया गया उस पर समुचित कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने स्कूली बच्चों को कार्यक्रम में शिरकत करने व सूचनापरक जानकारी देने के लिये आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर
कार्यक्रम के प्रथम चरण में कार्यक्रम की शुरूआत करते हुये पदमश्री पर्यावरणविद् डॉ. अनिल प्रकाश जोशी ने आहवान करते हुये कहा कि जल जंगल जमीन के विषय जीवन से जुडें हैं। प्रकृति के इन घटकों के बिना जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती।
डॉ. जोशी ने कहा कि आने वाली पीढ़ी के लिए सबसे बड़ा सवाल उसके जीवन से जुड़े आवश्यक संसाधनों की स्थितियों का है। मतलब बात बेहतर हवा, शुद्ध पानी, जहरविहीन भोजन व उस वातावरण का है। जो जीवन को मानसिक व शारीरिक रूप से स्वस्थ रखता है। आज के हालात और उसके प्रति हमारी गंभीरता निश्चित ही आने वाली पीढ़ी को निरंकुश करने वाली है। नदी, कुऐं और तलाबों ने तो साथ छोड़ना शुरू कर ही दिया, पर अब हर क्षण जीवनदायी हवा भी हमारी नीतियों से रूठ चुकी है। अब भोजन में मिटटी के बदले हम रसायनों का सेवन करते है जो एक ध्ीमें जहर की तरह हमारे शरीर में जगह बना रहा है ऐसा नहीं है कि हम इन उखड़ते संसाध्नों के हालातों से परिचित नहीं है। क्योंकि ये एक ऐसा विषय बन चुका है जिसे हम नकार तो नहीं सकते पर उससे ज्यादा गंभीर मुद्दा यह है कि हम इसके प्रति अभी पूरी तरह संजीदगी नहीं दिखा रहे है। अब तक कि दुनिया पिफर भी किसी तरह से चल रही है। जहां परिस्थितियां दमघोटु तो हो चुकी है पर फिर भी किसी तरह सब चल रहा है। पर सवाल अब आने वाली पीढ़ी का है जिसके लिए यह सब दुर्लभ हो जायेगा।

LEAVE A REPLY